37 C
लखनऊ, उ.प्र.
17/04/2024
वंदे भारत | ख़ास खबरें | उत्तर प्रदेश
क्राइमब्रेकिंग न्यूज़सुर्खियांसुल्तानपुर न्यूज़

प्रदर्शन के चलते एक घंटे बाधित रहा सुल्तानपुर-हलियापुर मार्ग: पीआरडी जवान पर हमला करने वाले मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज थे ग्रामीण, सीओ-तहसीलदार के आश्वासन पर माने प्रदर्शनकारी

सुल्तानपुर में PRD जवान रणजीत तिवारी केस में मुख्य आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने आज प्रदर्शन किया। करीब एक घंटे तक सुल्तानपुर-हलियापुर मुख्य मार्ग पूरी तरह बाधित रहा। इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए। वही परिजनों ने कुड़वार पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। हालांकि सीओ सिटी शिवम मिश्रा और तहसीलदार सदर केपी सिंह के मान मनौव्वल के बाद परिजन जाकर माने और जाम हटाया।

पीआरडी जवान के समर्थन में सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष कुड़वार थाने के सामने मुख्य मार्ग पर प्रदर्शन पर बैठ गए। सभी ने नारेबाजी शुरू कर दिया। पंडित का पुरवा सरकौड़ा निवासी पीआरडी जवान रणजीत तिवारी के चाचा ने आरोप लगाया कि पुलिस ने दो अज्ञात को तो गिरफ्तार करके जेल भेज दिया लेकिन मुख्य आरोपियों की पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर रही। उन्होंने पुलिस पर अपराधियों से मिले होने का आरोप लगाया। इस बीच तहसीलदार केपी सिंह व सीओ सिटी शिवम मिश्रा प्रदर्शन के आधे घंटे बाद मौके पर पहुंचे। काफी देर अधिकारियों के समझाने बुझाने और जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। तब कही जाकर जाम समाप्त हुआ।

आरोपी के अवैध निर्माण की जांच को पहुंचे तहसीलदार

उधर आरोपी परिक्रमा ने सरकौड़ा गांव में तालाब की जमीन पर कब्जा कर रखा है। पूर्व में पीआरडी जवान ने इसकी शिकायत की थी। इस मामले में तहसीलदार केपी सिंह दल बल के साथ मौके पर पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि नाप जोख के बाद अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलेगा।

कुड़वार के सरकौड़ा की है घटना

बताते चलें कि कुड़वार के पंडित का पुरवा सरकौड़ा निवासी पीआरडी जवान रणजीत तिवारी को रविवार की रात ड्यूटी से लौटते समय हमलावरों ने गोली मारकर घायल कर दिया था। रणजीत को राजकीय मेडिकल कॉलेज लाया गया वहां से उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया था। जहां अगले दिन ऑपरेशन करके उसके सीने व पेट से छर्रे निकाले गए थे। उसकी हालत अब स्थिर है।

कल दो आरोपी भेजे गए हैं जेल

इस मामले में पीआरडी जवान रणजीत की मां तारावती की तहरीर पर परिक्रमा प्रजापति व जितेंद्र प्रजापति पुत्रगण नंदलाल और दो अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। मंगलवार दोपहर पुलिस ने थानाक्षेत्र के असरोगा टोल प्लाजा के पास से नंदलाल और परिक्रमा के नाबालिग पुत्र को गिरफ्तार कर लिया। नामजद सगे भाई अभी खुलासे में लगी पुलिस की चार टीमों की पकड़ से दूर हैं। वही पीड़ित ने दो बाइक पर चार लोगों के शामिल होने की बात कही थी जबकि वो बाइकें भी पुलिस के हाथ नहीं लग सकी हैं। बताया जा रहा है कि जवान ने विवेचक को बयान में दो नाम और बताए हैं जिसको विवेचना के दौरान मुकदमे में शामिल किया गया।

Related posts

सुल्तानपुर के चर्चित विजय नारायण सिंह हत्याकांड में मुठभेड़, फरार हत्याभियुक्त अजय सिंह के पैर में लगी गोली, गिरफ्तार

सुल्तानपुर में भूमाफियाओं का अल्टीमेटम, जमीन लिख दो नहीं तो छीन लेंगे जीने का अधिकार, मिलेगी मौत

सुल्तानपुर : नवनिर्वाचित एमएलसी/प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक का सीएए के विरोधियों से सवाल, आखिर किस विषय पर आपका विरोध, हमने तो इसे पहले ही रखा था एजेंट में

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More