37 C
लखनऊ, उ.प्र.
17/04/2024
वंदे भारत | ख़ास खबरें | उत्तर प्रदेश
वर्ल्ड न्यूज़

डॉक्टर घनश्याम तिवारी की पत्नी बोली : योगी जी बहुत कराते हैं इनकाउंटर

डॉक्टर घनश्याम तिवारी की पत्नी बोली : योगी जी बहुत कराते हैं इनकाउंटर, पर मेरे मामले में नहीं हुआ कुछ, मेनका गांधी से बोलीं मेरी नहीं थी आपसे मिलने की इच्छा।

रिपोर्टर आशुतोष मिश्र सुल्तानपुर 9415049256

एंकर : सुल्तानपुर के चर्चित डॉक्टर घनश्याम तिवारी का हत्यारा आत्मसमपर्ण कर चुका है। पुलिस गदगद है कि उसकी गर्दन बच गई। सरकार ने भी राहत की सांस ली है। लेकिन संतुष्ट नहीं है तो मृतक डॉक्टर की पत्नी निशा तिवारी। सांसद मेनका गांधी आज जब उनसे मिलने पहुंची तो उसके सब्र का बांध टूट गया। उसने सरकार, प्रशासन सबको कटघरे में खड़ा कर दिया। सांसद मेनका गांधी से कहा कि मेरी आपसे मिलने की इच्छा नहीं थी।

वीओ : ”निशा तिवारी ने संसद से बातचीत करते हुए कहा कि सबने अपनी अपनी कर ली अब आपकी बारी है देखना है आप क्या करती हैं। मेरी बात को अन्यथा मत लीजिएगा, मेरी जगह कोई भी होता तो वह ऐसे ही पूछता। अभी कल ही उसने सरेंडर किया यहां की पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई। 14-15 दिन हो गए मेरे पति की हत्या हुए पुलिस को कभी उसकी लोकेशन बनारस मिल रही थी तो कभी कहीं मिल रही थी लेकिन अंत में उसने सरेंडर किया। इसका क्या मतलब हुआ प्रशासन कहीं से सपोर्ट कर रहा है। वह इतने पावरफुल लोग हैं कल को मेरे साथ भी कुछ कर सकते हैं।”

वीओ : निशा तिवारी यही नहीं रुकी उन्होंने आगे कहा आप तो एक-एक चीज जानती हैं। कोई नई चीज नहीं है बताने के लिए ना मैं राम कहानी बताने के लिए यहां आपके पास बैठी हूं। जिस चौकी क्षेत्र पर मेरे पति की हत्या हुई उस चौकी पर आकर के नाटक के तरीके से वह खड़ा हो जाता है और पुलिस कहती है कि मैने उसको गिरफ्तार किया है। उसको पकड़ा गया है या उसने आप समर्पण किया है? आज वह जेल में है कल को वह छूट भी सकता है। बड़े-बड़े रसूक वाले उसकी पकड़ में हैं अगर इतना ही होता तो प्रशासन उसको पकड़ता। मेरी 101% इच्छा थी कि मैं आपसे ना मिलूं। लेकिन मुझे लगा कि आप हैं, रेस्पेक्ट करनी चाहिए इसलिए मैं आपसे मिलने आई हूं। क्योंकि मेरे साथ अभी तक कोई न्याय नहीं हुआ है। उसने खुद रेंडर किया कितनी शर्म की बात है। उसके साथ हर चीज होनी चाहिए थी ना।

 

वीओ : “फिर मुख्यमंत्री पर वो खफा दिखी, उसने कहा योगी जी बहुत कुछ करते हैं। काउंटर करवाते हैं। अपराधियों को पकड़वाते हैं। कुछ हुआ मेरे साथ। कल को तीन-चार महीने मुकदमा चलेगा और वह छूट जाएगा फिर मैं मेरा बेटा। मेरे साथ ना तो शासन, ना प्रशासन, ना योगी जी कोई भी निष्पक्षता से काम नहीं कर रहा है। मैं यह चाहती हूं कि मेरे साथ निष्पक्षिता से कार्रवाई की जाए और इसकी जांच सीबीआई से करवाई है। क्योंकि मेरे साथ शुरू से लीपापोती होती हो रही है। जब तक अंत्येष्टि नहीं हुई थी तब तक मेरी सारी बातें जो है करने के लिए तैयार थे।”

बाइट : ‘मेनका गांधी ने सब सुनने के बाद गैर जिम्मेदाराना बात कही। उन्होंने कहा मर्डर में कानूनी तो पैसा नहीं मिलता। आपको 10 लाख रुपये मिले यह आपके साथ हमदर्दी थी। तो आपको दिया गया है। वरना कानूनन एक पैसा नहीं मिलता है।’

Related posts

दिल्ली, मुंबई और हैदराबाद के परदेसियों को मोहरा बना प्रधान ने हड़पे 10 लाख

एसपी सुल्तानपुर से बोला अन्नदाता, भूमाफियाओं ने हथिया ली जमीन, मैं मजदूर कैसे करूं उनका मुकाबला, साहब मेरी मदद करिए

चर्चित डॉक्टर घनश्याम तिवारी हत्याकांड: पूर्वांचल के बाहुबली पूर्व MLA पवन पाण्डेय बोले-सरकार ने सजातीय बंधुओं को दे रखा है संरक्षण, दुर्दांत अपराधी के इनकाउंटर का करे प्रयास

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More