28 C
लखनऊ, उ.प्र.
17/04/2024
वंदे भारत | ख़ास खबरें | उत्तर प्रदेश
पॉलिटिक्सब्रेकिंग न्यूज़लाइफ स्टाइलवर्ल्ड न्यूज़सुर्खियां

स्वदेशे पूज्यते राजा, विद्वान सर्वत्र पूजते : बृजेश मिश्र

स्वदेशे पूज्यते राजा, विद्वान सर्वत्र पूजते
स्वदेशे पूज्यते राजा, विद्वान सर्वत्र पूजते

Reported by : आशुतोष मिश्र सुल्तानपुर 9415049256

सुल्तानपुर : शहर के शेमफोर्ड पब्लिक स्कूल में इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी की तरफ से हिंदी दिवस के अवसर पर गुरुवार को सम्मान समारोह कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आईपीएस पुलिस ट्रेनिंग सेंटर बृजेश मिश्रा ने कहा कि राजा का केवल उसके राज्य में सम्मान होता है, जबकि विद्वान का हर जगह सम्मान होता है। इसलिए विद्वान बनने के लिए शिक्षा वृहत स्तर पर ग्रहण करने की आवश्यकता है। केएनआई के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ राधेश्याम सिंह ने कहा कि कोई भाषा छोटी बड़ी नहीं होती है। ज्ञान विज्ञान से जितना समृद्ध होगी भाषा उतना उसका मान बढ़ेगा। भाषा पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। इस अवसर पर रेड क्रॉस सोसाइटी के चेयरमैन/समाजसेवी डॉ. डीएस मिश्रा ने आए सभी अतिथियों को सम्मान पत्र देकर उत्साहित किया और समाज सेवा के क्षेत्र में आगे आने का आवाहन किया। समाजसेवी सरदार बलदेव सिंह ने कहा कि हिंदी भाव स्पर्शी भाषा है। जिसे राष्ट्रभाषा का दर्जा मिलना चाहिए। केश कुमारी बालिका इंटर कॉलेज के भौतिक विज्ञान प्रवक्ता शैलेश चतुर्वेदी ने कहा कि हिंदी दिवस का महत्व उसके विस्तार से जुड़ा हुआ है। संचालन आयुष चतुर्वेदी ने किया। विद्यालय के सभी शिक्षिकाओं , साहित्यकारों के साथ वरिष्ठ पत्रकार अनिल द्विवेदी, रमाकांत तिवारी अनुराग द्विवेदी, आशुतोष मिश्र, राजदेव शुक्ला, को हिंदी दिवस सम्मान समारोह के अवसर पर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

Related posts

सुल्तानपुर में सपा प्रत्याशी का जिलाध्यक्ष समेत 4 पूर्व विधायक कर रहे विरोध: 7 दिनों में 2 बार अखिलेश के सामने कंडीडेट को करना पड़ी परेड

सुल्तानपुर : नवनिर्वाचित एमएलसी/प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक का सीएए के विरोधियों से सवाल, आखिर किस विषय पर आपका विरोध, हमने तो इसे पहले ही रखा था एजेंट में

सुल्तानपुर में विकास भवन के सामने हाईवोल्टेज ड्रामा, अभद्र टिप्पणी पर शराबियों को ईंट-पत्थर ले खदेड़ा 2 युवतीयों ने, वीडियो वायरल, पुलिसिंग पर सवाल।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More